bewafa se pyar-bewafa shayari(HINDI SHAYARI)

0
41
bewafa se pyar

bewafa se pyar-300 words bewafa shayari hindi mai

bewafa se pyar-lovely unforgettable hindi bewafa shayari-very popular shayari collection only on Hshayari.com

बेवफा से प्यार कर बैठा -bewafa se pyar

बेवफा से प्यार कर बैठा ,

बिन सोचे इज़हार कर बैठा ,

क्या मालूम की दिल तोड़ देंगे इस कदर ,

बेहद और बेशुमार प्यार कर बैठा ,

एक झलक मे दीदार ए वफा ,

इस कदर  बेवफा का इंतिज़ार कर बैठा ,

आज सोचता हूँ अकेले मे कि ,

क्या येही प्यार है ……..  

सुनले वो बेवफा – sun le wo Bewafa 

सुनले वो बेवफा ,एक दिन तू भी पछताएगी ,

मेरे पीछे पीछे रोती चली आएगी ,

मैं बहुत दूर पहुँच चुका हुंगा ,

हमारे किस्से  दुनिया को सुनाएगी । 

कितनी बेशर्म बेवफा है 

शर्म करो यूं न बेवफ़ाई करो ,

भरे भीड़ मे मुझे यूं न रुसवाई न करो ,

बस इतना एहासान कर दो कि ….

तुम भी खुस रहो  गालिब मुझे भी खुश  ही रहने दो । 

फिर से एक मुलाक़ात बेवफा के साथ 

एक अरसा बाद हुई मुलाक़ात बेवफा के साथ ,

खोई खोई सी लगी मुझे वो ,

खामोश भी थी  और ….आंखे नाम भी उसकी 

उससे पुछने की कोशिस की , हाल मेरा भी वही था जो उसका था ,

उसने करीब आना चाहा , मैं भी उसकी ओर जा रहा था ,

दिल उसका भी धड़का होगा , मेरा तो धड़का ही था ,

बड़ी मुश्किल से उसके करीब पहुँच पाया ….और उससे पूछा तो ,

रोते हुये वो गले से लगी और कहा ….क्या तुम्हें मैं याद हूँ ?

मेरे पास जवाब न था , सिर्फ आंखो मे आँसू थे और टपक रहे थे जमी पर ,

इस तरह उस बेवफा  हुई मुलाक़ात ,

उसको आज मेरे साथ की जरूरत थी मगर मैं मजबूर था ,हालात मेरे बादल से गए थे ,

जिंदगी मेरी बादल सी गई थी ,क्या करू उसको अकेला छोड़ भी न सका ,

उसके गिरते अशकों को देख भी न सका , मुझसे रहा न गया ,उसका दर्द देखा न गया ,

एक बेवफा को फिर से गले से लगाना पड़ा , शायद उसे भी यह एहसास हो गया अब ,

की प्यार की तलाश मे जो मुझे चली गई थी , सिर्फ मैं ही हो जो उसका साथ दे सकता है ,

उसको महसूस हो गया अब , एक मुलाक़ात बेवफा के साथ । 

Read more hindi Shayaris 

हिंदी शायरी Love – स्टेटस -फ़ेसबूक -whatsapp

Hindi Shayari 2020